शादी के महज 10 महीने बाद ही छिन गया सुहाग, सेना में भर्ती होकर पूरा किया शही द पति का सपना …

शादी के महज 10 महीने बाद ही छिन गया सुहाग, सेना में भर्ती होकर पूरा किया शही द पति का सपना …

महिलाएं हमारे समाज के लिए प्रेरणा देने का काम करती रहीं हैं। भारत में महिलाओं ने कई ऐसे उदाहरण समाज के समाज की बंदिशों को तोड़कर महिलाओं ने अपने आप को साबित किया है।।।।इस मौके पर हम आपको ऐसी ही एक महिला के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने पति के श हीद होने के एक साल के।।भीतर ही सेना जॉइन कर देश सेवा के प्रति अपने जुनून को सबके सामने रख दिया। वे आज उन लाखों महिलाओं के लिए मिसाल हैं, जो देश सेवा का जज्बा अपने अंदर रखती हैं।

देश का शीश गर्व से ऊंचा रखने के लिए ना जाने कितने जाबांजों ने अपनी जान न्योछावर कर भारत का मान बनाए रखा था। पिछले साल पुलवामा हमले के बाद जै श ए मोह म्मद के खिलाफ चलाए गए ऑपरेशन में मुठ भेड़ के दौरान मेजर विभूति ढौंडियाल श हीद हो गए थे।

 

अब उनके इस सपने को पूरा करने के लिए उनकी पत्नी भी वर्दी में नजर आएंगी। मेजर विभूति की पत्नी निकिता ने से ना में शामिल होने के लिए सभी जरूरी परीक्षाएं भी पास कर ली हैं। वहीं शहीद विभूति की मां ने कहा कि निकिता अपने शही द पति के हर सपने को साकार करना चाहती है. बस कुछ ही समय में वो सेना की वर्दी पहन कर देश की सेवा करेगी.

जम्मू और कश्मीर में श हीद हुए उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के विभूति शंकर ढौंडियाल की श हादत को 1 साल पूरा हो गया. मंगलवार को उनकी पहली बरसी पर उनकी पत्नी ने उनके सपने को साकार करने की बात कही. शही द की पत्नी ने सेना में जाने का मन बना लिया है. इसके लिए वो तैयारियां कर रही हैं. विभूति शंकर की पत्नी निकिता ने हाल ही में एसएससी की परीक्षा भी पास की.

14 फरवरी को जम्मू से श्रीनगर जा रहे सी आरपीएफ के काफिले पर पुलवा मा में आ तंकी हम ला हुआ था। इसमें 40 जवान शही द हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी जै श ए मोहम्मद ने ली थी। इसके बाद पूरी घाटी में जै श के खिलाफ ऑपरेशन चलाया गया था।

इस दौरान 18 फरवरी को मु ठ भेड़ के दौरान आतं कि यों से लोहा लेते वक्त मेजर विभूति ढौंडियाल शही द हो गए थे। शही द मे जर की पहली बरसी पर पत्नी ने सेना में अफसर बन उन्हीं की राह पर चलने का फैसला किया है।…

मेज र विभूति की शहा दत की खबर सुन हर कोई दुखी था। उन्हें अंतिम विदाई देते वक्त मानों पूरा उत्तराखंड उमड़ पड़ा था। पत्नी निकिता ने पति को आई लव यू विभू कहकर अंतिम विदाई दी थी।…इसके बाद उन्होंने भी पति की तरह से ना में भर्ती होने की इच्छा जताई थी

इसके बाद से ना ने उनकी मदद की। इसके बाद कई औपचारिक टेस्ट और इंटरव्यू हुए। अब बताया जा रहा है कि निकिता ने इन्हें पास कर लिया है। वे जल्द ही से ना जॉइन कर लेंगी।…

34 वर्षीय मेजर विभूति ढौंडियाल सेना के 55 आरआर में तैनात थे. वह तीन बहनों के इकलौते भाई थे. वर्ष 2018 अप्रैल माह में उनकी शादी हुई थी. शादी को एक साल भी नहीं हुआ था जब उनकी शहा दत की खबर आ गई. मुश्किल घड़ी में उनकी पत्नी निकिता ने न केवल खुद को बल्कि परिवार को भी संभाला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *